Close
Picture of मृत्यु समय पहेले और पश्च्यात भाग १-१० पूज्य नीरू माँ

मृत्यु समय पहेले और पश्च्यात भाग १-१० पूज्य नीरू माँ

जब किसी का प्रिय स्वजन मृत्युशैय्या पर हो, तब उसे क्या करना चाहिए? अपने स्वजन की मृत्यु के बाद हमें क्या करना चाहिए। कौन सी समझ रखकर हम शांत और संतुलित रह सकते हैं?
Old price: £5.33
Price: £2.66
Description

जब किसी का प्रिय स्वजन मृत्युशैय्या पर हो, तब उसे क्या करना चाहिए? अपने स्वजन की मृत्यु के बाद हमें क्या करना चाहिए।

कौन सी समझ रखकर हम शांत और संतुलित रह सकते हैं? किसीकी मृत्यु के बाद होनेवाले क्रियाकर्म और दान-पुण्य करने के पीछे सामान्यत : लोगों की क्या मान्यता है? मृत्यु के बाद विभिन्न सामाजिक क्रियाओं का क्या महत्व है? क्या इन सभी धार्मिक क्रियाओं से मृत को फायदा होगा? क्या ये धार्मिक क्रियाएँ करनी चाहिए? क्या मर्सी किलिंग (दया मृत्यु) सही है?आत्महत्या के कारण और उसके परिणाम क्या हैं?आत्महत्या के विचार क्यों आते हैं? समाधिमृत्यु क्या है?समाधिमृत्यु मतलब मृत्यु के समय अपनी आत्मा के अलावा कुछ याद नहीं आना। पूज्य नीरू माँ ने ऐसे प्रश्नों के सही वैज्ञानिक उत्तर दिए है।